आपको बच्चा क्यों पैदा नही होता

सन्तानोत्पत्ति परामर्श
एक व्यक्ति कुछ समय से संतान सुख प्राप्ति की आस लिए हजारों रुपये डॉक्टर्स के पास व दवाइयों में फूंक के
एक शुभ दिवस मुझसे, इस परेशानी के बारे में ,बहुत दुःख भरे मन से जब मुझको बताते हैं ,तो उनसे प्रथम तो कुंडली विश्लेषण की सलाह दी ही थी कि उसने स्वतः कहा कि नही आपकी वेबसाइट के #tantra_scanning सेवा के माध्यम से मुझे जानना है।

इसमे ज्योतिष ज्ञान,तंत्र शक्तियों व मेरे गुप्त ध्यान विधियों के सामागम से मैं परेशानी का मूल कारण और उसका सटीक निवारण निकालता हूँ ,तो 3 दिन का समय लगता है।अतः उनको 4 दिन के पश्चात का समय दिया गया ।इस समय तक वो उनकी धर्मपत्नी के भीतरी जांच को कराने का मन नही बना पाए थे।
कुंडली मे पुरुष के और स्त्री के पंचम स्थान, ग्रह, राशि, दृष्टि, युति, दशा, योग, गोचर, प्रश्न कुंडली ,नाड़ी ज्योतिष, इत्यादि से जांच में साफ दिखा उसके पश्चात जब अपने पुश्तैनी तांत्रिक विधि से जब जाना और अपने गुप्त ध्यान सूत्र को जब साथ लिया तब दिखाया गया कि शादी के बाद जब स्त्री घूमने पहाड़ों की यात्रा में रास्ते मे किसी वृक्ष के पास मूत्र विसर्जन हेतु रुकी थी (इस व्यक्ति ने हामी भरी) और वहीं एक बच्चो का शमशान था और एक बालक इस स्त्री को अपनी माँ समझ के इनके साथ चिपक लिया और कुछ समय बीतने के बाद इनके मन में ये भावना बलवती होती गई कि इन्हें संतान की आवश्यकता नही है ।
मैंने जब यह दृश्य देखा पूर्व का और अब वर्तमान स्थिति जाननी चाही तो देखा वो बालक इन स्त्री के भीतर कोई नस दबा के बैठा है और इस दबने से वहाँ कुछ जंग(जैसे लोहे में rust लगी होती) लगी हुई है और वो बालक नही चाहता कोई दूसरा इस स्त्री पर माँ के अधिकार से आये।जैसे ही यह चर्चा मैं उन व्यक्ति से कर रहा था उस बालक की उपस्थिति वहां दिखी मुझे और कुछ अपने तरीके से मैने उस बालक को समझाया ।पर बालक तो बालक जिद्दी तो उसका बाद में देखने के लिए उसको विदा किया।
खैर मैने उनको उनकी धर्मपत्नी के यूट्रस व भीतरी जांच की सलाह दी ।क्योंकि मैं विज्ञान व मनोविज्ञान दोनो का विद्यार्थी रहा हूँ तो आध्यात्मिक, तांत्रिक,ज्योतिषीय, वैज्ञानिक व मनोवैज्ञानिक तरीके से ठोक बजा के ही किसी निर्णय पे जाता हूँ।जब स्त्री की जांच कराई गई तो पाया गया यूट्रस में जिन दो नलियों की जिम्मेदारी संतानोत्पत्ति के लिए महत्वपूर्ण है एक नली पूरी तरह से बंद और एक नाम मात्र की खुली है। यही बात मैने बिना किसी मेडिकल जांच से जब पहले ही निकाल ली थी तो पति और धर्मपत्नी जी की ज्योतिष,तंत्र इत्यादि में विश्वास न करने वाली भी चरणों मे गिर रोने लगी।
उनको विश्वास दिलाया की सब सही होगा।
अब दो केंद्रों में काम होना था एक शारीरिक रूप से जो बिगड़ चुका था उसको डॉक्टरी तरीके से ठीक करना और साथ ही उस बालक को उधर से मुक्त करना।
तो पति समझदार थे और अब पत्नी भी समझ चुकी थी हर कोण से इस समस्या को ,तो उनसे मेरे द्वारा आगे किये जाने वाले पूर्व में #श्री_काल_भैरव #हवन और एक इलाज के बाद #पित्र_शांति व उनके #इष्ट_पूजन के लिए हर प्रकार से हृदय से सहयोग के वचन ले के हम तीनो ने काम करना शुरू करा।डॉक्टर के इलाज से पहले और बाद की क्रियाओं और बीच-बीच में #tantra_scanning का जिम्मा मैने लिया।जब विश्वास हो और काम महत्वपूर्ण हो तो व्यक्ति धन पे पकड नही करता,उन्होंने जो भी धन लगना था मुझे सुपुर्द किया और मैं भी निश्चिन्त भाव से अपने कर्म में लगा रहा।
अब वो महिला डॉक्टरी इलाज ,दवाइयां व और श्री काल भैरव कृपा से गर्भवती हैं और जब भी सामने आती हैं उनके होंठ नही ,उनकी आंखों से बहती अविरल अश्रु धार उनके हृदय में बहती तरंग को अभिव्यक्त कर देती है और मेरे भीतर व्याप्त अनन्त शांति को और गहराई में ले जाती है ।समय लगा पर हमने मिलके इसका उपाय निकाला।प्रार्थना है सभी का खूब मंगल हो।
इन्ही के अनुभवों के आधार पे बहुत और दंपतियों को परामर्श देने में कई विभिन्न प्रकार के कारण भी निकल के आये।
आपने समय दिया इस मार्मिक हृदय द्रवित अनुभवजन्य लेख को पढ़ने में आपका धन्यवाद।

ज्योतिर्विद व ध्यान मार्गदर्शक पं. श्री तारामणि भाई जी
(ज्योतिषीय परामर्शक,ध्यान मार्गदर्शक,पारलौकिक रहस्यविद,मृतात्मा सम्पर्ककर्ता)
[इष्ट सिध्दि साधना,त्राटक साधना,यक्षिणी साधनाओ में सफलता हेतु संपर्क करे]
चामुंडा ज्योतिष केंद्र
9919935555
www.chamundajyotish.com

Leave Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Chat Guru Ji via WhatsApp
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: